सफ़र एक शुरुआत

चल पड़ो उस राह में जहां डगर नई सी हों। शहर नया सा हों और सहर नई सी हों। नए से हो चेहरे, जुबां नई सी हों। खिलखिलाते चेहरों पर मुस्कान नई सी हो।